दूध पीते समय करें इन नियमों का पालन, दो गुना मिलेगा फायदा

दूध पीते समय करें इन नियमों का पालन, दो गुना मिलेगा फायदा

फीचर्स डेस्क। पशु प्रदत आहारों में से दूध स्वास्थ्य के लिये सर्वोत्तम माना जाता है। दूध में कैल्शियम पाया जाता है जो बच्चों के शारीरिक विकास और हड्डियों की मजबूती के लिए बहुत आवश्यक है। इसके साथ ही दूध में विटामिन्स-एकेबी 12 थायमिन और मिनरल्स जैसे-फास्फोरससोडियम एवं पोटैशियम पाये जाते है, इसीलिए बच्चों के सही विकास के लिए उन्हें प्रतिदिन दूध पिलाना चाहिए। बच्चों के साथसाथ महिलाओं को भी अपनी डाइट में दूध को शामिल करना चाहिए क्योंकि  40 के बाद महिलाओं के शरीर में कैल्शियम की कमी होने लगती है। लोग सेहतमंद रहने के लिए दूध पीते है पर दूध पीने के भी कुछ नियम है अगर उन्हें अमल नही किया जाये तो फायदे की जगह नुक्सान भी हो सकता है। जी, हाँ कुछ लोग दूध पीते हुए ऐसी गलतियाँ कर देते है,जैसे खाने के तुरंत बाद दूध पीनानानवेज के साथ दूध पीना इत्यादि करते है जिससे दूध फायदा करने के बजाय नुक्सान करने लगता है। दूध पीने के इन नियमों को जानना चाहिए जिससे आप भी सही तरीक़े से दूध पीकर इसका फायदा उठा सकें।

खाने से पहले या खाने के बाद ना पीयें

कुछ लोगो को खाने से पहले या खाने के कुछ देर बाद दूध पीने की आदत होती है। अगर आपको भी ऐसी आदत है तो इसे तुरंत छोड़ दे क्योंकि दूध को पचने में समय लगता है। इसीलिए दूध और खाना एक साथ लेने से भारीपन महसूस होता है।

दूध के साथ ना करें नमक और खट्टी चीजों का सेवन

खट्टी या नमकीन चीजों का सेवन दूध पीने से एक घंटा पहले या एक घंटा बाद ही करें। ऐसा नहीं करने से वौमेटिंग या खट्टी डकार आने की समस्या हो सकती है।

प्याज और बैगन के साथ कभी दूध का सेवन ना करें

प्याज और बैगन में उपस्थित केमिकल्स आपस में क्रिया करके त्वचा संबंधित रोग पैदा करते है। इसलिये इनके सेवन में कुछ समय का अंतर रखें।

फिश या नॉनवेज के साथ नालें

फिश या नॉनवेज के साथ दूध लेने से श्वेत दाग या ल्यूकोडर्मा की शिकायत हो सकती है।

रात के खाने के एक घंटे बाद पीयें

अगर आपको रात में दूध पीने की आदत है तो खाने और दूध पीने में कम से कम एक घंटे का अंतराल रखें वरना डाइजेशन की समस्या हो सकती है और आपका पेट खराब हो सकता है।

ठंडे दूध और दूध में चीनी के सेवन से बचे

ठंडा दूध पीने से बचे और नाही दूध में चीनी का इस्तेमाल करें। ठंडा दूध देर से पचता है और गैस बढ़ाता है। चीनी पोषक तत्वों को दूर करती हैऔर डाइजेशन में समस्या पैदा करती है।

गाय का दूध ही सेवन करें

भैंस के दूध के मुकाब लेगा य का दूध ज्यादा हेल्दी होता है। भैंस का दूध कफ को बढ़ाने का काम करता है जबकि गाय के दूध में कैल्शियमप्रोटीनऐंटी आक्सीडेंट के साथ साथ विटामिनसेलेनियम जिंक आदि भी प्रर्याप्त मात्रा में होता है। यह तत्व हमारी बॉडी की इम्यूनिटी को बढ़ाते हैं जिससे हम छोटीछोटी बिमारियों से बचे रह सकते हैं। बच्चों के ब्रेन के विकास के लिए उन्हें नियमित रूप से गाय का दूध पिलाना चाहिए।


Click Here To See More

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकती हैं