Mother's Day Special: क्यों मनाया जाता है हर साल ये दिन,जानते है इसके पीछे का इतिहास

यूं तो मां को प्यार जताने का कोई दिन नहीं होता। आप कभी भी अपना प्यार ,सम्मान मां को बयां कर सकते है। लेकिन जब किसी दिन को खास तौर पर मनाया जाता है तो उसके पीछे छुपा होता है एक इंपॉर्टेंट रीजन। क्या है वो रीजन आइए जानते है इस आर्टिकल के जरिए।
Mother's Day Special: क्यों मनाया जाता है हर साल ये दिन,जानते है इसके पीछे का इतिहास
Mother's Day Special: क्यों मनाया जाता है हर साल ये दिन,जानते है इसके पीछे का इतिहास

फीचर्स डेस्क। आपको बता दें कि इस साल मदर्स डे 9 मई 2021 को मनाया जायेगा। मदर्स डे यानी मातृ दिवस इस दिन को मनाने का एक बड़ा रीजन तो ये है कि आज के दिन सभी मदर्स के अनकंडीशनल लव एंड केयर का रिस्पेक्ट करते हुए हम सभी उनको थैंक्स करें और लोगों को इस बात के लिए जागरूक भी करें। इस दिन को अलग अलग देशों में अलग अलग टाइम एंड डेट पर मनाया जाता है,लेकिन इंडिया में अमेरिका के हिसाब से ही मई माह के सेकंड संडे को मनाया जाता है।

हिस्ट्री ऑफ मदर्स डे

मदर्स डे को मनाने की शुरुआत हुई ग्राफ्टन वेस्ट वर्जीनिया में जहां एना जार्विस ने सभी मदर्स के रिस्पेक्ट में ये दिन मनाने की प्रथा शुरू की। हर देश में अलग अलग डेट में ये दिन सेलिब्रेट किया जाता है। और इस दिन खास तौर पर छुट्टी भी रखी जाती है। ऐसा भी कहा गया है कि मदर्स डे की स्टार्टिंग पुराने ग्रीस से हुई थी। साइबेले की ग्रीक देवताओं की मां के रूप में पूजा की जाती है । इन्ही को अपना प्यार और  सम्मान प्रदर्शित करने के लिए ये दिन सेलिब्रेट किया जाता है। वहा पर ये दिन किसी त्यौहार से कम नहीं मनाया जाता। 

क्या है मदरिंग संडे

यूरोप और ब्रिटेन में मदर्स डे की कई परंपराएं प्रख्यात है।उसी में सबसे इंपॉर्टेंट है कि संडे को मदर्स को और उनके प्यार को रिस्पेक्ट किया जाता था। इसे ही मदरिंग संडे कहा जाता है। ये दिन किसी फेस्टिवल के जैसा होता है। परंपरा अनुसार इस दिन मां को घर के प्रत्येक मेंबर के लिए किए गए हर काम के लिए रिस्पेक्ट के साथ एक गिफ्ट भी दिया जाता है जो बच्चों का मां के प्रति प्यार शो करता है। 1912 में एना जॉर्विस ने सेकंड संडे इन मई फॉर mother's day को ट्रेडमार्क बनाया और मदर्स डे इंटरनेशनल एसोसिएशन बनाई।

किस देश में कैसे मनाते है मदर्स डे

चीन 

चीन में मदर्स डे बेहद फेमस फेस्टिवल के रूप में मनाया जाता है। यहां पर लोग गुलनार के फ्लॉवर्स मां को एस ए गिफ्ट देते है ।1997 में ये दिन गरीब माताओं की हेल्प के नाम पर डिसाइड किया गया था। ऐसी माताएं जो बेहद गरीब परिवार से है उनकी मदद मदर्स डे के दिन की जाती है।

जापान

जापान देश में मदर्स डे सम्राट अकीहितो की मां के बर्थडे के रूप में मनाया जाता है।अब आजकल ट्रेंड चेंज हुआ है और लोग अपनी मदर के लिए ये दिन सेलिब्रेट करते है। यहां भी बच्चे अपनी मां को गुलनार के फूल या उससे बने गुलदस्ते तोहफे के रूप में देते है।

थाईलैंड

थाईलैंड में मदर्स डे यहां की रानी के जन्मदिन के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है। अधिकतर देशों में मदर्स डे वहां की धर्म देवियों के जन्मदिन या पुण्य दिन के रूप में मनाया जाता रहा है। और कुछ देशों में तो अगर मदर्स डे के दिन मां का सम्मान न किया गया या ये दिन सेलिब्रेट न किया गया तो वो क्राइम की श्रेणी में आ जाता है।

वैसे तो मां और उसके किए गए अनकंडीशनल लव को किसी भी पैमाने से नहीं मापा जा सकता। न कोई एक दिन उस मां के नाम किया जा सकता है। बस मदर्स डे को मनाने का एक उद्देश्य ये होता है कि आप अपनी मां को ये जता सके कि वो आपके लिए कितनी इंपॉर्टेंट है। उनको इस दिन स्पेशल फील करवाइए। अपनी मां को ये एहसास कराएं कि आप दुनिया में सबसे लकी बच्चे है जो आपको उनके जैसी मां मिली।

आपने जान ही लिया होगा कि मदर्स डे को क्यों मनाया जाता है। सभी देशों की चाहे डेट्स अलग हो या दिन अलग हो पर मनाने का उद्देश्य सेम है। मां का सम्मान। तो आप भी अपनी और सभी माताओं का सम्मान करे और उनके लिए मनाए मदर्स डे।

आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा बताएं जरूर। साथ ही ऐसे ही इंफॉर्मेटिव आर्टिकल्स पढ़ने के लिए जुड़ी रहे हमारी मदर्स डे स्पेशल सीरीज " माँ कि छांव में " आपकी अपनी वेबसाइट www. focusherlife.com से।

picture credit:freepik.com


Click Here To See More

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकती हैं