मिलन का मौसम

तपती धरती की प्यास बुझाने   का मौसम। इजहार ए मोहब्बत उनसे करने का मौसम, प्रेम के गीत गुनगुनाने का  का मौसम।
मिलन का मौसम

ये सावन का मौसम, बारिशों में भीग जाने का मौसम

काली काली घटाओं के छाने  का मौसम,

तपती धरती की प्यास बुझाने   का मौसम।

इजहार ए मोहब्बत उनसे करने का मौसम,

प्रेम के गीत गुनगुनाने का  का मौसम।

उनसे अब मिलने का  मौसम

इंतजार ए दीदार अब   खत्म होने का मौसम।

कुछ हसीन खतायें करने  का मौसम,

  कुछ प्यार भरी गुफ़्तगू  करने का मौसम।

कुछ सरगोशियों का मौसम,

 हालें दिल उनसे बयाँ करने  का मौसम।

कुछ और उनके रूबरू आने का मौसम,

सावन की अलबेली ऋतु मे

 उनसे कुछ शरारतें करने  का मौसम।

एक बार उनको अपना बनाने का मौसम

और उनका बन जाने का मौसम

   यूँ तो हसरतें हैं बेहिसाब  इस दिल की

फक़त इतनी ही मुकम्मल करने का मौसम।

इनपुट सोर्स : अर्चना पंत, लखनऊ सिटी।


Click Here To See More

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकती हैं