मैचिंग मास्क: बच्चे मास्क नहीं पहनते तो आप कर सकती हैं ये एक्सपेरिमेन्ट्स

मैचिंग मास्क: बच्चे मास्क नहीं पहनते तो आप कर सकती हैं ये एक्सपेरिमेन्ट्स

फीचर्स डेस्क। कोरोना काल में शुरु हुआ मास्क का चलन अब स्वस्थ्य जीवन जीने का मंत्रा बन चुका है। धीरे धीर ही सही पर अब समाज में लोगों नें इसको सीरियसली लेना शुरु कर दिया है। मास्क जो अब न्यू नार्मल बन चुका है, वो अब नित नये फैशन स्टेटमैन्ट भी बना रहा है। त्यौहारों और शादी के सीजन के चलते से मैचिंग मास्क का चलन बढ़ता जा रहा है।

प्रिन्टस् और एम्ब्राइडरी वाले मास्क उपलब्घ

अब ना ही अलग अलग रंगों बल्कि कई तरह के प्रिन्टस् और एम्ब्राइडरी वाले मास्क भी आसानी से उपलब्घ है। ये एक पंथ दो काज जैसा है सुरक्षा की सुरक्षा और फैशन का फैशन, है ना मजेदार। शुरू में जहं N-95 और सर्जिकल मास्क की मांग ज़ोरों पर थी वह आज वराईटी और डिफरेन्ट कलर्स में बदलती जा रही है।

कीमत अमूमन 50 से 200 रु

पोलका डाट्स, मधुबनी आर्ट, वर्ली आर्ट, कमलकारी प्रिन्टस आदि की काटन, खादी और सिल्क फैबरिक में भारी डिमांड है। इनकी कीमत अमूमन 50 से 200 रु के बीच है। कई जगह तो आजकल एक्सपेंसिव के साथ मैचिंग मास्क कौमप्लेमेन्टरी भी मिल रहें हैं। ये सोने पे सुहागा जैसा है जो महिलाओं और लडकियों को खासा आकर्षित कर रहा हैं। वहीं सुंदर  वोमेंस और लडकियां टेलर मास्टर से बचे हुए कपडे से मैचिंग मास्क बनाने की मांग करने से भी पीछे नहीं रह रहीं। इसलिए लोकल टेलरस् भी मास्क बनाने में कई तरह के एक्सपेरिमेन्ट्स कर रहें हैं।

डिजायनर मास्क और एम्ब्राइडरी, स्टोन फैशन में

इनदिनों ज़री के काम का ज़ोर हैं। हालांकि वर्क के साथ कम्फर्ट और ब्रीदिंग फैब्रिक का भी ध्यान रखा जा रहा है जिससे कस्टमर फुल्ली सैटिसफाइड रहे । इनकी कीमत 200 से 1000 रु के बीच है।

इनको दें कार्टून वाले मास्क

नन्हे मुन्नों को लुभाने के लिए कार्टून वाले मास्क और कस्टमाइज्ड मास्क भी काफी डिमांड मे है। पैपा पिग, छोटा भीम, डोरा, डोरेमान, माशा एंड द बियर, मिस्टर बीन और मोटू पतलू वाले मास्क बहुतायत में उपलब्घ हैं। इनकी कीमत 20 से 50 रु के बीच है जो सबकी पहूंची में भी है। वहीं दूसरी ओर थोडे ज्यादा पैसे खर्च कर आप अपनी मनपसंद फोटो भी मास्क पर आसानी से प्रिन्ट करवा सकते हैं।

वेरायटी में कम्फर्ट सबकी प्राथमिकता

मास्क पहनने में आनाकानी करने वाले बच्चे भी अपने फैवरिट कार्टून कैरेक्टर वाले इन मास्क को शौक से पहनते हैं। हालांकि सभी तरह की वेरायटी में कम्फर्ट अभी भी सबकी प्राथमिकता है। इसीलिए काटन और खादी के मास्क नें इन सबमें बढ़त बनाई हुई है। खादी के मास्क सभी खादी सेन्टरस् में आसानी से मिल रहें हैं। इनका कीमत 25 रु से शुरू है और इससे सांस लेने में भी कोई परेशानी नहीं होती। ये रीयूज़ेबल भी हैं और आसानी से घर पर धुले जा सकते हैं। हल्के रंगों के होने के कारण ये सभी को आसानी से पसंद भी आते हैं। मास्क अब जीवन का ज़रुरी हिस्सा हैं। जैसा चाहें वैसा पहनें पर पहनें जरुर। स्वयं और अपने आस पास के लोगों को सुरक्षित रखें क्योंकि जान है तो जहान है। आप इस तरह के आर्टिकल पढ़ना पसंद करती हैं तो जुड़ें रहें focusherlife.com के साथ।

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकती हैं