इंटरव्यू : वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा

इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा
इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा
इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा
इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा
इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा
इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा
इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा
इंटरव्यू  :  वुमेन एम्पावरमेंट के लिए निरंतर काम करना है मकसद : नीमा

फीचर्स डेस्क। सफल व्यक्ति की समाज में एक अलग पहचान होती है। इस पहचान को कायम रखने के लिए औरों से अधिक मेहनत करना होता है और अपने ईमानदार प्रयासो से खुद को साबित करने में कामयाब होना पड़ता है। आज हम आपकी मुलाक़ात नाबाबों का शहर लखनऊ की एक ऐसी खास सख्सियत नीमा पंत से करा रहें हैं। इन्होने अपनी काबिलियत के बदौलत स्ट्रांग वोमेंस के फील्ड में एक अलग पहचान बनाई है। नीमा सिटी के एसजीपीजीआई में कार्डीयोलाजी नॉन इनवेसिव लैब प्रभारी की जीम्मेवारी सभाल रहीं हैं।

नीमा न सिर्फ हैल्थ एक्सपर्ट हैं बल्कि इनकी कोशिश समाज में उन वोमेंस को आगे बढ़ाना है जो लाइफ में कुछ करना चाहती हैं। इनका कहना है कि यदि टैलेंट को आगे आने में मेरी हेल्प होती है तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता है। नीमा परिवार को लेकर भी बहुत संजीदा हैं। इन्हें एक माँ और एक पत्नी कि जिम्मेवारियो का पूरा ध्यान है। जिसे प्राथमिकता के आधार पर पूरा करती हैं। इनका 11 वर्षीय बेटी देवीना है तो पति डॉक्टर संदीप कुमार एसजीपीजीआई में कार्डीयोलाजी में बतौर डॉक्टर के पद पर हैं। वैसे इनके पास समय कि बहुत कमी है फिर भी जब टाइम मिलता है उस सामय नीमा दोनों कि दोस्त बन जाती हैं। जिसके जरिये कोरे कैनवास पर नीमा अपनी कल्पनाओं का रंग भरती हैं। नीमा कहती हैं जैसे मैं सेल्फ डिपेंड वुमेन हूँ उस तरह अनगिनत वोमेंस को सेल्फडिपेंड देखना चाहती हूँ। जब एक वुमेन सेल्फडिपेंड होती है तो समाज उसके जीवन के हर रंग को भर देता है और इज्जत भी देता है।

महिला टैलेंट को आगे बढ़ाने पर कर रहीं काम

वोमेंस टैलेंट को आगे बढ़ाने पर काम कर रहीं नीमा वोमेंस कि लाइफ में आने वाली परेशानियों का बेखूबी अंदाजा है। यही कारण है कि वोमेंस को अपने टैलेंट का प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करती रहती हैं। नीमा कामकाजी और घरेलू वोमेंस के सामने टैलेंट दिखाने का टाइम न मिलना बहुत बड़ी समस्या है। ऐसे में अपने खुद के लिए कैसे टाइम निकाले मेरा टिप्स मददगार साबित होता है।

सोशल वर्क में भी पीछे नहीं

नीमा कहती हैं कि हेल्थ एक्सपर्ट हो या फिर कोई और पेशे में सभी में खुद को अपडेट करने कि जरूरत पड़ती है। इस लिए नीमा ने कभी खुद को अपडेट करने में कोई कोताही नहीं बरती। आज सिटी में होने वाले कई सोशल वर्क में पार्टीसिपेट करती रहती हैं। इसके अलावा सिटी के एसजीपीजीआई में कार्डीयोलाजी नॉन इनवेसिव लैब प्रभारी के रूप में अपनी सेवाएँ दे रहीं हैं।

नर्सिंग इनके लिए मानवता कि सेवा

एक समय था जब डॉक्टर अपने पेशे का मतलब सिर्फ मरीजो कि सेवा करना समझते थे,लेकिन अब काफी बदलाव आ चुका है। हलाकि कहते हैं न कि मानवता कभी मरती नहीं है लखनऊ कि हेल्थ एक्सपर्ट नीमा भी उनमे से एक हैं।

फैशन शो के क्षेत्र में कई सम्मान

 फैशन शो कि दिशा में ऐसा कोई सम्मान नहीं है जो नीमा को नहीं मिला हो। चाहे सोशल वर्क हो या फिर लोगो कि हेल्प करना हो सब में आगे रहती हैं।

पति का मिला सहयोग सपना हुआ साकार

अभी तक आपने सुना होगा कि हर सफल पुरुष के पीछे एक महिला का हाथ होता है। पर नीमा के लाइफ में उल्टा है यहा इनके पति संदीप कुमार का इनके इस काबिलयात में सबसे बड़ा रोल है। पति संदीप का फूल सपोर्ट मिलने से इनके सपने को साकार होने में सामय नहीं लगा।

नहीं है किसी से कांपीटीशन

फैशन शो के जरिये लखनऊ ही नहीं भारत में अपनी पहचान बना चुकी नीमा कहती हैं कि इनका किसी से कोई कांपीटीशन नहीं है। ज़िंदगी में शुरू से तय किया था उस रास्ते पर नहीं जाऊगी जो घर को लोगो को पसंद न हो।

आगे बढ़ते देख सब ने सराहा

नीमा कहती हैं कि आज जो कुछ हु घर के सपोर्ट के कारण हूँ। इसलिए परिवार मेरी प्राथमिकता है।

पर्सनल प्रोफ़ाइल

नाम             नीमा पंत

एजुकेशन       स्पेलाजेशन कार्डियोलाजी, एमबीए और पीएचडी चल रहा है।

टाकिंग        नेशनल एंड इंटरनेशनल लेक्चर्स

पति        डॉ संदीप कुमार  

परिवार में    बेटी देवीना और पति   

शादी         2006 में

निवासी      लखनऊ      

पिता        कैप्टन पीसी पंत आर्मी आफ़िसर

बच्चे        एक बेटी

अवार्ड

मिसेज यूनिवर्स 2019 (एशिया जोन)।

आईकॉनिक पर्सनालिटी अवार्ड 2019,

एसेन्स ऑफ ब्युटी 2019,

मिस एंड मिसेज नार्थ इंडिया 2019

ब्युटी प्रतियोगिता में मिसेज नार्थ इंडिया 2019 विजेता का खिताब.

स्टार ऑफ द 2019 अवार्ड । 

बातचीत के कुछ अंश :

फोकस 24 : नीमा माडलिंग की शुरुआत कब से हुई ?

नीमा  : शादी के बाद इस टैलेंट को दिखाने का मौका मिला।

फोकस24 : अब तक इस टैलेंट के जरिये कितने अवार्ड जीत चुकी हैं ?

नीमा पंत : मिसेज यूनिवर्स 2019 (एशिया जोन)। आईकॉनिक पर्सनालिटी अवार्ड 2019, एसेन्स ऑफ ब्युटी 2019, मिस एंड मिसेज नार्थ इंडिया 2019 ब्युटी प्रतियोगिता में मिसेज नार्थ इंडिया 2019 विजेता का खिताब जीत चुकी हूँ, इसके अलावा स्टार ऑफ द 2019 अवार्ड भी मिला।

फोकस 24 : सोशल वर्क में आपका रोल क्या है ?

नीमा पंत :  एक सोशल एक्टविस्ट के तौर पर 30 से अधिक बार ब्लड डोनेट कर चुकी हूँ। कैसर अवेरनेस, प्लास्टिक पर रोकथाम पर लोगो को जागरूक करना और   वुमेन एम्पावरमेंट के लिए काम कर रहीं हूँ। लोगों को हेल्थ अवेरनस के बारे में जागरूकता करती रहती हूँ, स्वछ भारत के तहत संस्थान के अंदर बाहर कार्यक्रमों का संचालन करती रहती हूँ।

फोकस 24 : यूथ को कोई मैसेज देना चाहेंगी ?

नीमा पंत  : यूथ हमेशा अच्छे आचरण को अपनाए, समाज में लोगों के भलाई के लिए काम करें।   

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकती हैं