ऑफिस में स्मार्ट एम्पलाई के तौर पर पहचान चाहती हैं तो ख़ुद से जुड़ी इन बातों को कलीग्स से न बताएं

एक स्मार्ट एम्पलाई की पहचान कई तरीके से होती है। इसलिए काम के साथ कई ऐसी बातें हैं जिनका ख्याल रखना बहुत जरूरी है...
ऑफिस में स्मार्ट एम्पलाई के तौर पर पहचान चाहती हैं तो ख़ुद से जुड़ी इन बातों को कलीग्स से न बताएं

फीचर्स डेस्क। प्रोफ़ेशनल और पर्सनल लाइफ़ दोनों में काफ़ी डिफरेंट होता है। आप वर्किंग वोमेन और स्मार्ट एम्पलाई के तौर पर ऑफिस में अपना पहचान बनाना चाहती हैं तो इसको मेंटेन करते हुए अपने काम को बेहतर तरीक़े से करना होगा। जबकि देखा ये जाता है कुछ लोग ऑफ़िस में अपने काम के अलावा कई और बातों पर भी ध्यान रखते हैं। ऐसे समझे की आपको ऑफिस में गॉसिप, पॉलिटिकल विचार, पर्सनल बातें इन सब से दूर रहना होगा। क्योकि जो इन सब बातों पर ध्यान देता है उस एम्पलाई की ऑफिस में छवि अच्छी नहीं होती। अब आप वर्किंग वोमेंस हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि आपको ऑफ़िस में किस तरह की बातें करनी हैं और किस तरह की नहीं। वहीं ख़ुद से जुड़ी कई ऐसी बातें हैं जिन्हें कलीग्स या फिर बॉस के सामने कभी नहीं बोलना चाहिए। 

सैलरी की बात ऑफिस में नहीं

वैसे तो सभी पैरेंट्स चाहते हैं की उनके बच्चे अच्छी सैलरी पाए। इसलिए आप अपने पैरेंट्स को बता सकती हैं आपकी सैलरी कितनी है लेकिन ऑफ़िस या फिर किसी कलीग्स फ्रेंड से अपनी सैलरी को लेकर बातचीत ना ही कीजिये तो बेस्ट। क्योकि फिर लोग इससे आपके काम की कंपेयर करने लगते हैं, जैसे की इतनी सैलरी मिलती है और काम कुछ नहीं, और यही बात आपका नुकसान करा सकता है।

जॉब पसंद नहीं फिर भी किसी से न कहें

मान लीजिए आप जो काम करती हैं वो आपको पसंद नहीं है फिर भी ये बात ऑफिस में किसी को न बोलें। दरअसल, होता यह है की बार-बार शिकायतें और निगेटिव बातें करने से ऑफिस में आपकी गलत इमेज बन जाती है। इससे साथ ही ये भी ज़ाहिर हो जाएगा कि आप एक टीम वर्क के क़ाबिल नहीं हैं। और फिर आपका मोरल डाउन होगा बल्कि बॉस भी आपको पसंद नहीं करेंगे।

पर्सनल लाइफ पर ऑफिस में कोई टॉक नहीं

फ़ीमेल के साथ अकसर यह देखा जाता है कि ऑफिस में अपने घर की, फैमली या फिर रिलेशन या दोस्तों की बातें करने लगती हैं, जबकि आप इस बारे में किसी से भी बात ना करें। कई बार लोग आपकी कमज़ोरी जानने के बाद फ़ायदा उठाते हैं। इसलिए किसी को भी यह ज़ाहिर ना होने दें कि आप मेंटली परेशान या कमज़ोर हैं।

पॉलिटिक्स से रहें दूर

अगर आप किसी एम्पलाई को पसंद नहीं करती हैं तो उससे सिर्फ़ उतनी ही बात करें, जितना ज़रूरी है। बॉस को अपने काम से प्रभावित करें पॉलिटिक्स जैसी चीज़ों से जितना हो सके उतना दूर रहें। कई बार लोग इन चीज़ों में काफ़ी दिलचस्पी लेते हैं, लेकिन यह आपके काम और छवि दोनों को प्रभावित करता है।

किसी को भी कम न समझे

ऑफ़िस में कई ऐसे लोग होते हैं, जो अपने काम को सही वक़्त पर नहीं कर पाते हैं। ऐसे में आप उनके प्रति ग़लत छवि ना बनाएं। अगर आप उन्हें प्रोत्साहित नहीं कर सकते तो उन्हें नीचा दिखाने की कोशिश भी ना करें। इससे उनका आत्मविश्वास कम होता है, कई ऐसे एम्पालई होते हैं, जिन्हें अपने काम को समझने और अच्छे तरीक़े से करने में वक़्त लगता है। इसलिए किसी को भी अयोग्य समझने की ग़लती ना करें।

यह आर्टिकल आपको अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें और साथ ही इसी तरह के और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें फोकस हर लाइफ से।

photo credit : freepik


Click Here To See More

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकती हैं