इस शिवरात्रि भोलेनाथ को खुश करने के लिए अपनाये ये उपाय

इस वर्ष शिवरात्रि पर भोलेनाथ को पूर्ण रूप से प्रसन्न कर अपने बिगड़े काम बनाना चाहते हैं तो पढ़ें पूरा आर्टिकल
इस शिवरात्रि भोलेनाथ को खुश करने के लिए अपनाये ये उपाय

फीचर्स डेस्क। भोलेनाथ यानि भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए महाशिवरात्री के पर्व का इंतज़ार सभी को रहता हैं। हिन्दू धर्म में इस दिन का बहुत महत्त्व है।  इस साल 2021 में शिवरात्रि 11 मार्च  के दिन पड़ने वाली है, पूजा पाठ तैयारियां अभी से चल रही हैं। माना जाता है कि इस दिन माता पार्वती और महादेव शादी के पवित्र बंधन में बंधे थे,वहीँ कुछ पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन भगवान शिव शिवलिंग के रूप में प्रकट हुए थे,जिसके उपलक्ष्य में यह त्योहार मनाया जाता है। सभी भक्तजन देवों के देव महादेव का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए इस दिन व्रत और यथा संभव पूजा पाठ करते हैं। पर अगर आप देवों के देव महादेव को अधिक प्रसन्न करना चाहते हैं तो उसके लिए इन छोटी छोटी बातों का अपनी पूजा पाठ में ध्यान  रखिए और उसे पूर्णता फलीभूत बनाइये।आइये जानते हैं

प्रातः काल स्नान करें

इस दिन सुबह जल्दी उठ कर स्नान करें हो सके तो नहाने के पानी में काले तिल डालकर नहाएं। मान्यता है कि ऐसा करने से सभी तरह की अशुद्धियों का विनाश हो जाता है। आप भी इस बार दिन की शुरुआत कुछ इस ढंग से कर सकती हैं।

मंदिर में दर्शन और अभिषेक

आज के दिन अपने बिजी शेड्यूल में बदलाव करते हुए मंदिर जाकर शिवलिंग का अभिषेक अवश्य करें। दूध, दही, घी जल ,शहद, गंगाजल  से अभिषेक कर महादेव को बेलपत्र, धतूरा और फूल चढ़ाएं। धूप-दीप से आरती कर भगवान शिव से अपनी मनोकामना पूरी करने का वर मांगें।

इसे भी पढ़े - महाशिवरात्रि 2021:क्या है शुभ महूर्त और क्यों मनाया जाता है ये त्यौहार

शक्कर है महादेव को प्रिय

महादेव का शक्कर से अभिषेक करने से सुख और समृद्धि बढ़ती है। ऐसा करने से मनुष्य के जीवन से दरिद्रता चली जाती है। अगर आप भी दरिद्रता को दूर करना चाहती हैं तो इस महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर शक्कर जरूर चढ़ाएं।

 केसर

भोले बाबा को केसर भी काफी प्रिय है। अगर आप शिवरात्रि को शिवलिंग पर केसर वाला दूध चढ़ाएंगे तो आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी और आपकी शादी जल् होगी। इसके अलावा शिवलिंग पर केसर अर्पित करने से हमें सौम्यता मिलती है।

भांग

शिव जी को भांग चढ़ाने से हमारी कमियां और बुराइयां दूर होती हैं। शिव जी को भांग सबसे ज्यादा प्रिय है। आप शिवलिंग पर भांग का लेप या फिर भांग की पत्तियां चढ़ा सकते हैं। इससे आपके जीवन से निगेटिविटी और कोई भी बुरा साया होगा वह चला जाएगा।

पूरे दिन का व्रत

यदि आप में सामर्थ्य हो तो दिन-रात का व्रत करें क्योंकि यह पर्व एक सुबह से लेकर दूसरे दिन की सुबह तक माना जाता है। दिन में फलाहार जैसे जूस, फल आदि का सेवन करें और सूर्यास्त के बाद किसी प्रकार का भोजन ग्रहण करें। वैसे तो श्रद्धा भक्ति के कोई नियम नहीं होते यदि आप में सामर्थ्य है तो व्रत को व्रत के तरीके से करें।

इस से बचे

पूर्ण फल पाने के लिए क्या करना है ये तो  आइये अब जानते हैं कि क्या नहीं करना चाहिए

शिवलिंग पर सिंदूर न चढ़ाएं इसकी जगह चन्दन का प्रयोग करें।

शिवलिंग पर कभी भी तुलसी के पत्ते न चढ़ाएं इनको धार्मिक मान्यता के अनुसार वर्जित माना गया है।

हालांकि हल्दी को पूजा अर्चना और रीती-रिवाज़ों के लिए अनुकूल माना जाता है लेकिन शिवलिंग पर इसको अर्पित न करें।

शिवलिंग पर शंख से जल न चढ़ाएं। 

भगवान शिव को सफ़ेद रंग के फूल पसंद होते है, लेकिन सफ़ेद रंग के फूल में केवड़ा और केतकी के फूल के इस्तेमाल बचें।

पूजा में काले रंग के कपडे ना पहने, इसे शुभ नहीं माना जाता।

खंडित बेल पत्र के प्रयोग से बचें। खंडित बेलपत्र चढ़ाने से बेहतर है कि बेल पत्र चढ़ाएं ही नहीं। 

अगर आप को ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपनी फैमिली और फ्रेंड्स के साथ शेयर करें ताकि वो भी इस जानकारी का लाभ  उठा सकें। ऐसे ही इन्फोर्मटिव आर्टिकल्स पढ़ने के लिए जुड़े रहे https://www.focusherlife.com/index.html के साथ। 

 


Click Here To See More

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकती हैं