Category : लघु-कथा

धुएँ के गुबार में फँसी जिन्दगी

नशा एक बुरी लत है। कोई शौक से नही करता। पर कई बार जीवन की कड़वी सच्चाई से पीछा छुड़ाने के लिए चिंताओं को धुएं में उड़ाना किसी किसी...

Read More

असली चेहरा : खुद के अस्तित्व को पहचानो...

एक औरत अपने चेहरे पर कई मुखौटे लगाई रहती है। उन मुखोटों के पीछे अपनी खुशी छुपा लेती है। पर कब तक और क्यों? एक बार ये नकली मुखौटा उतार...

Read More

मातृभूमि तुझे प्रणाम: देश की सेवा सबसे पहले

एक फौजी की माँ के मन के अन्तर्द्वन्द को समझने के लिए पढ़े प्रीतम कोठरी द्वारा रचित मर्मस्पर्शी कहानी

Read More

कुछ यादें कुछ बाते: क्या था वो अहसास जो...

कई बार सब्र दे जाता है जवाब,और हम कर बैठते है आवेश में ऐसी गलती जिसका हमे जब होता है अहसास तो हम हो जाते है स्तब्ध। अपनो का प्यार...

Read More

मेरी बेटी मेरा अभिमान:हौसलो की उड़ान

हर मां के लिए उसकी बेटी उसकी परछाई होती है।वो अपना सारा जीवन अपनी बेटी के नाम कर देती है। बेटी की खुशियां ही मां के जीवन का आधार होती...

Read More

love story : एक्सक्यूज मी मैम...

"एक्सक्यूज मी मैम, आप मेरी सीट पर बैठी हैं " कनिका कुढ़ते हुए चुपचाप अपनी सीट की ओर खिसक गई। उस शख्स ने अपनी सीट पर बैठते हुए हैरानी...

Read More

बस ये 5 सिग्नल काफी हैं यह बताने के लिए...

अगर आपको अचानक किसी का साथ अच्छा लगने लगे, उनसे बार-बार मिलने को दिल चाहे तो जान लीजिए कहीं यह प्यार तो नहीं!

Read More